Hindi kahani-बड़ी सोच का बड़ा जादू। best powerful inspirational story in Hindi for kids and all peoples

Hindi kahani-बड़ी सोच का बड़ा जादू
best powerful inspirational story in Hindi for kids and all peoples.

आजकल के दौर में हर इंसान परेशान घबराया हुआ सा नजर आता है हर कोई इस बात से डरा रहता है कि मेरे फ्यूचर में क्या होगा और दोस्तों डर या परेशानी किसी भी चीज का हल नहीं है इसी बात को बेहतर तरीके से हम समझ सके इसलिए मैं एक कहानी लेकर आया हूं।

यह कहानी एक व्यापारी की है जो एक दिन छोटे से गांव में जाता है और वहां इसलिए जाता है कि वह देखना चाहता है वहां लोग कैसे व्यापार करते हैं और वहां का मार्केट कैसा है जैसे ही वह उस गांव के मार्केट में पहुंचता है वहां देखता है कि वहां लोगों ने बहुत छोटे-छोटे खोखे पडू या टपोरी लगा कर रखे हैं।

और वह सब कुछ बेच रहे हैं जो भी उनके पास है और खरीदने वालों के लिए भी सब कुछ है और जो कुछ भी वो खरीदना चाहते हैं उसने एक चीज गौर करेगी वहां ना तो चमकते हुए साइन बोर्ड है ना डिस्प्ले में लगे हुए मॉडल्स हैं और तब भी वहां सब कुछ बहुत मात्रा में उपलब्ध है और बिक भी रहा है 

तभी उसे एक आदमी देखता है जो एक जिनी के साथ खड़ा हुआ है वह आदमी के पास जाता है और उससे पूछता है कि आप क्या बेच रहे हो  तो आदमी बोलता है अपना जिनी बेच रहा हूं। यह एक ऐसा जीनी है जो आपकी हर इच्छाए और महत्वकांक्षए पूरी कर देगा तो व्यापारी ने पूछा तो आप इस जीने को क्यों बेच रहे हो।

तो उसने बताया मेरी सारी इच्छाएं और महत्वकांक्षए की इच्छा पूरी हो चुकी हैं अब मुझे कुछ नहीं चाहिए व्यापारी ने पूछा अच्छा इसके बदले में तुम क्या लोगे तो उस आदमी ने बोला बस आप इसको अपने पास रख लो इसको अपने पास रखना अब बहुत मुश्किल हो गया है मेरे लिए।

यह जिनी आपकी हर इच्छा पूरी कर देगा जो भी आप इसे बोलोगे पर इसको हमेशा कुछ ना कुछ काम देना पड़ेगा एक काम खत्म होने के बाद दूसरा फिर तीसरा और इसी तरह इसको हमेशा बिजी ही रखना पड़ेगा किसी ना किसी काम में वरना यह सब कुछ बर्बाद कर देगा जो भी इसने बनाया है 

तब उस व्यापारी ने बोला ठीक है मैं खरीदूंगा इस जिनी को मेरे व्यापार बहुत बड़ा है मेरे पास बहुत सारा काम है जिससे यह जीनी हमेशा बिजी रहेगा और मैं हर बार इसको कोई ना कोई काम दे सकता हूं तब उस आदमी ने बोला साहब एक बार और सोच लो इसके लिए हर बार नया काम सोचना बहुत मुश्किल है 

इसने मुझे तो बर्बाद कर दिया अब आप भी सोच लो तब व्यापारी ने बोला तुम चिंता ना करो मेरे पास ढेर सारा काम है  जो भी कभी न खत्म होने वाला काम है यह जीनी उसे हमेशा विजी रखेगा तो यह कहकर वो आदमी उस जिनी को खरीद लेता है।

और अपने साथ अपने घर ले आता है तब जिनी बोलता है सोदे के मुताबिक अब आप मुझे मेरा काम दो तब व्यापारी बोलता है कि मेरे पास बहुत सारे शहरों में जमीन है जाओ वहां और सब के चारों तरफ सुरक्षा दीवार बनाकर आओ और उस पर साइन बोर्ड पभी लगा आओ चलो मैं तुम्हें हर जगह का रास्ता बता देता हूं 

और एड्रेस दे देता हूं तभी जीनी ने बोला मुझे एड्रेस की कोई जरूरत नहीं है मैं सब अपने दिमाग से पढ़ लिया है बस मैं काम कर देता हूं फिर जीनी ने ताली बजाई और सारा काम हो गया यह सब देखकर व्यापारी स्तब्ध रह गया और घबरा गया उसने उस जीनी का इतना तेजी से काम करने का अंदाजा नहीं लगाया था 

इसीलिए वह घबरा गया तभी जितनी बोलता है सोदे के मुताबिक आपको मुझे लगातार काम देना होगा वरना मैं सब कुछ खत्म कर दूंगा तब व्यापारी उससे बोलता है अच्छा अच्छा जिस जगह तुमने दीवारें बनाई है 

वह होटल मॉल ऑफिस गार्डन और स्विमिंग पूल वगैरह बना कर खड़े करो फिर जीनी ने ताली बजाई और बोलता है कि आपका काम हो गया सब जगह सब कुछ बन चुका है और वहां पूरा स्टाफ लोग सब मौजूद हैं।

और आपका बिजनेस बहुत अच्छा चल रहा है अब फिर व्यापारी उसको कुछ नया काम देना था व्यापारी में जिनी को बोला अच्छा फिर मुझे इस देश का राजा बना दो और सब को बुलाओ और एक शानदार भोजन का प्रबंध रखो और म्यूजिशियंस को बुलाओ पोएट्स को बुलाओ कलाकारों को बुलाओ मेरे लिए मेरे बीवी बच्चों के लिए सबके लिए अच्छे-अच्छे कपड़े बनाओ तब जिनी ने ताली बजाई और वह व्यापारी राजा बन जाता है

शानदार भोज शुरू हो जाता है यह सब देखकर व्यापारी बहुत ज्यादा डर जाता है कि क्या करूं मैंने मेरी सारी महत्व कहां जाएं तो पूरी हो गई है अब क्या बोलूं इसको इससे सॉन्ग क्या काम करवाऊ नहीं बताऊंगा तो यह सब कुछ नष्ट कर देगा बर्बाद कर देगा।

तभी उसे अपने गुरु का ध्यान आता है वह सोचता है कि उनसे पूछता हूं उनके पास जरूर कोई ना कोई उपाय होगा तब बो जीनी को बोलता है मुझे मेरे गुरु के पास हिमालय ले चलो जिनी ताली बजाता है और वह हिमालय पहुंच जाते हैं।

तब व्यापारी जिनी को बोलता है मेरा बाहर इंतजार करो मैं अपने गुरु से बात करके आता हूं और वह अंदर अपने गुरु के पास चला जाता है तब वह अपने गुरु को सारी कहानी बताता है और बोलता है गुरु मैं बहुत परेशान हूं 

लालच में मैंने ऐसे जिनी को खरीद लिया लेकिन अब मेरे पास इसके लिए कोई काम नहीं बचा हुआ है और अगर मैं इसे कोई काम नहीं देता हूं तो यह सब कुछ बर्बाद कर देगा तब उसके गुरु उसे बोलते हैं यह तो बहुत आसान काम है 

जाओ उसको बोलो कि कहीं से एक बहुत लंबा सा लकड़ी का खंबा लेकर आए और उसे बहुत ही मजबूती से महल के सामने गाड दे और जब भी वह खंबा लग जाए तो उस पर ऊपर से नीचे नीचे से ऊपर चढ़ते रहे और जब तक कि उसको नया काम या नया आदेश ना मिले यह सुनकर व्यापारी सोचता है 

कि यह तो कितना आसान काम था। मेरे दिमाग में क्यों नहीं आया तब उसके गुरु बताते हैं कि इंसान जब भी परेशान होता है घबराया होता है तब उसका दिमाग काम नहीं करता और आसान से आसान चीज भी समझ नहीं आती।

दोस्तों इस कहानी से हम समझ सकते हैं कि भय डर चिंता परेशानी इंसान को सिर्फ बर्बादी की तरफ से लेकर जा सकती है  इसलिए हम हमेशा अपने डर को अपने ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए। तो दोस्तों इस ब्लॉग में इतना ही अगर आपको यह कहानी पसंद आई तो इस पोस्ट को लाइक करें अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और नई पोस्ट की जानकारी के लिए हमारे इस ब्लॉक को फॉलो करें। धन्यवाद

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां