Hindi kahani- गरीब लड़के की कहानी, वह कैसे बना अमीर | motivational story in hindi for success & students

Hindi kahani- गरीब लड़के की कहानी, वह कैसे बना अमीर... motivational story in hindi for students short motivational story in hindi for success.
sandeep maheshwari motivational story in hindi. motivational story in hindi for depression.    motivational story in hindi by sandeep maheshwari motivational story in hindi for success     best motivational story in hindi motivational story in hindi with moral    motivational story in hindi moral story in hindi wikipedia.     motivational story in hindi for teachers day some motivational story in hindi
Motivational story
child motivational story in hindi. top motivational story in hindi

एक छोटे से कस्बे में रोहन नाम का लड़का रहता था वह अपने गरीबी से बहुत ही पपरेशान था। वह एक अमीर सेठ के दुकान में ₹3000 की तनख्वाह में काम करता और अपने दो वक्त की रोटी के लिए मेहनत करता था।

वह लड़का जो पैसे बचाने के लिए सिर्फ सुबह के समय ही अपने लिए 8 रोटी बना लिया करता था जो की चार रोटी वह सुबह खाता और चार रोटी वह शाम के लिए बचा कर रख दिया करता और उसे खाकर वह अपने काम के लिए दुकान चला जाता था।

लेकिन जब वह शाम को अपने घर वापस लौटता और देखता तो यहाँ पर सिर्फ़ 3 ही रोटी बच रहती। तब लड़का सोचता है आखिरकार यहां से एक रोटी कौन खा लेता है तब वह लड़का उस दिन भोजन खाते खाते सोचता है

motivational story in hindi for sales team & story in hindi pdf

कि आज शाम को मैं अपने सेठ से जल्दी से छुट्टी लेकर अपने घर जल्दी आ जाऊंगा और देखूंगा। कि आखिरकार मेरी इस एक रोटी को कौन खाता है। वह फिर सुबह नहा धोकर अपने लिए 8 रोटी तैयार करता है 4 रोटी सुबह के लिए और 4 रोटी शाम के लिए वह सुबह की चार रोटी खाकर अपने सेठ की दुकान काम करने के लिए चले जाता है।

और फिर सेठ से शाम के वक्त 1 घंटे पहले छुट्टी लेकर वह अपने घर आता है। और जब वह घर पहुंच जाता है तो देखता है कि यहां पर अभी चार ही रोटी बची है तो वह सोचता है

अब मैं एक जगह पर बैठकर इंतजार करता हूं कि आखिरकार मेरी एक रोटी कौन ले जाता है। वह एक स्थान पर चुपचाप बैठ कर इंतजार करने लगता है और कुछ ही देर बाद एक चूहा उस रोटी को लेने के लिए आता है और जैसे ही वह चूहा उस रोटी के पास जाता है तो रोहन उस चूहे को पकड़ लेता है।

motivational story in hindi real moral story in hindi

और उससे बात करने लगता है कि मैं तो वैसे ही इतना गरीब हूं मुझे अपनी दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करने के लिए इतनी मशक्कत करनी पड़ती है। और तुम मेरे हिस्से की एक रोटी रोज चुरा कर खा लेते हो।

अब तुम ही बताओ मैं तुम्हारे साथ क्या करूं। तब चूहा बोलता है तुम अपनी गरीबी से इतनी ही परेशान हो तो मैं तुम्हें एक सुझाव देता हूं पर उससे पहले तुम मुझे मेरी हिस्से की रोटी खाने दो। तब वह लड़का उसे अपनी रोटी दे देता है और जब वह चूहा रोटी पूरा खा लेता है तब उसे यह सुझाव देता है

कि तुम जाकर गौतम बुद्ध से मिलो वह तुम्हारे हर एक सवाल का जवाब दे देगा। फिर वह लड़का उस चूहे को छोड़ देता है और अपनी बची हुई तीन रोटी को खाकर सोने के लिए चले जाता है। और सोते हुए यह सोचता है कि क्यों ना मैं इस चूहे की बात मानकर गौतम बुद्ध से मिलने जाऊं और वह इस योजना के लिए तैयार हो जाता है।

motivational story in hindi language new kids story in hindi

वह फिर अपने सेठ से लगभग 1 सप्ताह की छुट्टी लेकर गौतम बुद्ध से मिलने के लिए निकल पड़ता है। जब वह लड़का चलते चलते कुछ मील की दूरी पर पहुंचता है तो उसे एक हवेली दिखाई देती है और उस हवेली के पास एक पेड़ लगा हुआ रहता है तो वह लड़का उस पेड़ के नीचे जाकर बैठ जाता है।

तभी वहां उस हवेली की मालकिन उस लड़के के पास आती है और पूछती है कि बेटा तुम अपने इस पोटली को लेकर कहां जा रहे हो। 'तब वह लड़का बोलता है कि, "मैं अपने सवालों का जवाब लेने के लिए गौतम बुद्ध से मिलने के लिए जा रहा हूं।

"तभी उस हवेली की मालकिन बोलती है कि, क्या बेटा तुम मेरे भी एक सवाल का जबाब लेकर आ सकते हो, तो वह लड़का बोलता है जी हां क्यों नहीं। आप अपना सवाल बताइए मैं आपके लिए गौतम बुद्ध जी से अवश्य आपके सवाल का जवाब लाऊंगा। तब हवेली की मालकिन बोलती है कि बेटा मेरी जो बेटी 20 साल की है।

motivational story in hindi download true moral story in hindi

वह बचपन से अभी तक नहीं बोली है। मेरी बेटी कब बोलेगी, यह सुनते ही उस लड़के की आंखों में आंसू आ जाते हैं और दुख के कारण उसका दिल भर जाता है और यह सवाल सुनकर लड़का फिर वहां से आगे की ओर बढ़ जाता है।

जब वह आगे की ओर बढ़ जाता है तो उसे कई प्रकार की परेशानियां होती है। लेकिन फिर भी वह आगे बढ़ते चले जाता है और आगे बढ़ते वक्त उसे कई बड़े बड़े पहाड़ और चोटिया भी पार करनी पढ़ रही थी। जब वह उन पहाड़ी रास्तों पर चल रहा था तो उसे वहां पर एक जादूगर दिखाई दिया जो वहां पर तपस्या कर रहा था।

तभी वह लड़का उस जादूगर के पास जाता है और उसका पैर छूते हुए उसका आशीर्वाद लेता है। जब वह जादूगर उस लड़के को पान छूते हुए देखता है, तो वह उस लड़के से यह पूछता है कि बेटा तुम कहां जा रहे हो। तो वह लड़का बोलता है मैं गौतम बुद्ध से मिलने जा रहा हूं।

very short motivational story in hindi. life motivational story in hindi

अपने सवालों का जवाब लेने के लिए। तब वह जादूगर उस लड़के को बोलता है क्या तुम मेरा भी एक सवाल उस गौतम बुद्ध जी से लेकर आ सकते हो, यदि तुम मेरे सवालों का जवाब लेकर आ गए तो मैं तुम्हें इन पहाड़ियों को अपने इस जादू की छड़ी से चुटकियों में तुम्हें पार करा दूंगा। तब वह लड़का उस से सवाल पूछता है।

बताइए आपका सवाल क्या है मैं आपके लिए गौतम बुद्ध जी से जरूर उसका जवाब लाऊंगा। तब वह जादूगर बोलता है कि तुम यह पूछना, "मैं यहां पर सैकड़ों सालों से तपस्या करता हूं मैं स्वर्ग कब जाऊंगा" ? यह सवाल सुनता है और नमस्कार करते हुए वह जादूगर उसे तुरंत उस पहाड़ को अपनी जादू की छड़ी से पार करा देता है।

जब वह कुछ और दूरी पर चलता है तो उसे एक नदी को पार करना पड़ता है। जब वह उस नदी के पास पहुंचता है तो उसे एक कछुआ दिखाई देता है और वह लड़का कछुआ जी से आग्रह करता है कि क्या आप मुझे इस नदी को पार करने में मेरी सहायता करेंगे।

world best motivational story in hindi. bill gates motivational story in hindi

तो वह कछुआ तैयार हो जाता है और उसे अपने पीठ के ऊपर बैठा कर नदी पार करवाने लगता है। जब वह उसे नदी में पार करवाता है तो कछुआ उस लड़के से पूछता है कि बेटा तुम कहां जा रहे हो ? तब वह लड़का बोलता है कि मैं गौतम बुद्ध जी से मिलने जा रहा हूं, अपने कुछ सवालों का जवाब लेने के लिए।

तब वह कछुआ उस लड़के को बोलता है कि क्या तुम मेरा भी एक सवाल का जवाब लेकर आ सकते हो, तो वह लड़का तैयार हो जाता है और सवाल पूछता है कि बताइए आपका क्या सवाल है।

तब वह कछुआ बोलता है "मैं सैकड़ों साल से एक कछुआ ही हूं मैं एक ड्रैगन कब बनूंगा ? यह सवाल सुनते हैं वह दूसरे किनारे की ओर पहुंच जाता हैं और लड़का उस कछुए से उतरकर उस कछुए को नमस्कार करते हुए आगे चले जाता है।

short motivational story in hindi for attitud.

जैसे ही वह कुछ दूरी पर चलता है तो उसे गौतम बुद्ध जी की एक कुठिया दिखाई देती है। और वह उस कुठिया के अंदर चले जाता है। तभी उस लड़के के दिमाग में अचानक से उस हवेली की मालकिन की याद आती है और सोचने लगता है कि मेरी परेशानी तो इस मालकिन की लड़की से बहुत ही कम है।

क्यों ना मैं अपने सवालों के जवाब को छोड़कर इन तीनों के सवालों का जवाब लूं।क्योंकि मेरा तो जीवन ठीक-ठाक तरह से तो चल ही रहा है। मुझे दो वक्त की रोटी तो खाने को मिल ही रही है क्यों ना मैं इनके सवालों का जवाब लेकर जाऊं।

जैसे ही वह गौतम बुद्ध जी के पास पहुंचता है और उन्हें प्रणाम करता है तो गौतम बुद्ध जी बोलते हैं बताइए बेटा आपका क्या सवाल है ? तब वह लड़का अपना पहला प्रश्न पूछता है कि एक लड़की जो 20 साल से नहीं बोली है वह कब बोलेगी?

heart touching motivational story in hindi

तब गौतम बुद्ध जी उसका उत्तर बताते हुए बोलते हैं जब वह लड़की की शादी हो जाएगी तो वहां बोलना शुरू कर देगी। तभी वह लड़का दूसरा सवाल पूछता है की एक जादूगर सैकड़ों सालों से तपस्या कर रहा है वह स्वर्ग कब जाएगा? तब गौतम बुद्ध जी उसका उत्तर देते हुए बोलते हैं जब वह अपने उस जादू की छड़ी को त्याग देगा तो वह स्वर्ग चला जाएगा।

और लड़का तीसरा सवाल पर पूंछता है एक कछुआ है जो सैकड़ों साल का है वह ड्रैगन बनने की कोशिश कर रहा है वह ड्रैगन कब बनेगा? तब गौतम बुद्ध जी बोलते हैं कि जब वह कछुआ अपने उस कवच से बाहर निकल जाएगा तो वह एक ड्रैगन बन जाएगा।

वह लड़का इन तीनों सवालों का जवाब लेकर वहां से निकल पड़ता है। और जैसे ही वह उस कछुए के पास पहुंचता है तो वह लड़का उस कछुए को उसका जवाब देते हुए कहता है कि तुम अपने इस कवच को छोड़ दो तुम ड्रैगन बन जाओगे।

motivational story in hindi for students moral story in hindi short

जैसे ही वह कछुआ उस कवच को छोड़ता है वह एक ड्रैगन बन जाता है। और उस कवच में से बहुत सारे मोती निकलते हैं। तो वह कछुआ उस लड़के को वह पूरे मोती दे देता है। और वह लड़का उस मोती को लेकर आगे बढ़ जाता है।

जैसे ही वह लडका उस जादूगर के पास पहुंचता है तो वह उस जादूगर के सवालों का जवाब देते हुए कहता है कि तुम यदि इस छड़ी को त्याग दोगे तो तुम स्वर्ग में चले जाओगे। तो वहां जादूगर उस छड़ी को उसी लड़के को दे देता है। और वह जादूगर फिर स्वर्ग की ओर चले जाता है।

फिर वहां आगे बढ़ता है जैसे ही वह उस हवेली के पास पहुंचता है और वह मालकिन से मिलता है और उसके सवाल का जवाब देते हुए कहता है कि यदि तुम्हारी बेटी की शादी हो जाएगी तो वह बोलना शुरू कर देगी। जैसे ही मालकिन यह सुनती है तो वह बहुत खुश हो जाती है।

best life motivational story in hindi motivational story in hindi

और सोचने लगती है कि क्यों ना मैं इस लड़के की शादी अपनी बेटी से करवा दूं। और फिर वह मालकिन बोलती है कि बेटा तुम ही मेरी बेटी से शादी कर लो। तुमसे अच्छा लड़का और कोई नहीं मिलेगा। तो वह लड़का शादी के लिए तैयार हो जाता है। और उस लड़का और लड़की की शादी हो जाती है।

जैसे ही उनकी शादी हो जाती है। तो वह लड़की बोलने लगती है और सबसे पहले यह बोलती है कि तुम ही थे ना जो कि शाम को मेरे घर आए थे। और मेरी माता जी से बात कर रहे थे। उसकी मां यह सुनते ही बहुत खुश हो जातीं हैं।

अब उस लड़के के पास बहुत सारे मोती थे। और उसके पास जादू की छड़ी भी थी। और उसके पास एक लड़की भी थी। उसका जीवन बहुत ही खुशहाल हो गया और वह एक बहुत ही बड़ा आदमी बन गया और उसकी सारी गरीबी की परेशानी दूर हो गई।

a real motivational story in hindi. a motivational story in hindi

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां