Hindi kahani - सबसे कीमती वस्तु Hindi Stories for kids Panchatantra Stories in Hindi

Hindi kahani- सबसे कीमती वस्तु 

Kids Story  Hindi Kahaniya. Bedtime Moral Stories

hindi Baccho Ki Kahaniya Hindi Stories For Kids

Best inspirational story in Hindi

Moral story
Good night Kids Story in Hindi.
राजा इंद्र प्रकाश हर वर्ष अपने राज्य में एक प्रतियोगिता का आयोजन करते थे जिसमें हजारों की संख्या में लोग भाग लिया करते थे और विजेता को पुरस्कार के साथ सम्मानित भी किया जाता था।

1 दिन राजा ने सोचा कि प्रजा की सेवा को बढ़ाने के लिए उन्हें एक राज पुरुष की आवश्यकता है जो बुद्धिमान हो और समाज के कार्य में अपना योगदान दे सकें उन्होंने राजपुरुष को चुनने के लिए एक प्रतियोगिता को आयोजित करने का आदेश दिया।

दूर-दूर से लाखों की तादाद में इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए आए थे राजा ने इस प्रतियोगिता के लिए एक बड़ा सा मैदान तैयार करवाया था इसमें राज दरबार की सभी कीमती वस्तुएं थी हर प्रकार की सामग्री उपस्थित थी लेकिन किसी भी वस्तु के सामने उसका मूल्य निश्चित नहीं किया गया था।

Hindi Kids Stories Kid Activities 
Bacho ki Kahaniyan 

मतलब की कीमती सामान तो रखा गया था लेकिन उस पर उसकी कीमत नहीं लिखी गई थी राजा ने प्रतियोगिता शुरू करने से पहले यह घोषणा की जिसके अनुसार जो भी व्यक्ति इस बगीचे से सबसे कीमती वस्तु लेकर राजा के सामने उपस्थित होगा उसे ही राजपुरुष के लिए स्वीकार किया जाएगा।

और इतना कहने के बाद प्रतियोगिता शुरू होती है। सभी लोग बगीचे में सबसे कीमती वस्तु तलाश में लग गए कुछ लोग हीरे जवाहरात ले जाकर राजा को दिखाते तो कोई सोने चांदी के बर्तन पुस्तकें किताबें ले जाते तो कुछ लोग देवी देवताओं की मूर्ति और जो लोग बहुत गरीब थे वो रोटी लेकर जाते उनके लिए यही सबसे कीमती वस्तु थी।

सभी लोग अपनी क्षमता के अनुसार किसी ना किसी वस्तु को कीमती समझकर राजा के सामने प्रस्तुत करने में लगे हुए थे  कि तभी एक नौजवान राजा के सामने खाली हाथ उपस्थित होता है राजा ने सभी से कुछ ना कुछ सवाल किए और उसके बाद उस नौजवान की बारी आई।

Interesting Story Hindi Moral Story For Kids 

अरे नौजवान क्या तुम्हें इस बगीचे में कोई भी कीमती वस्तु नजर नहीं आई? तुम खाली हाथ ही कैसे आ गए ? हे राजन मैं खाली हाथ कहां आया हूं मैं तो सबसे अमूल्य कीमती धन उस बगीचे से लेकर आया हूं।

नौजवान ने कहा, तुम क्या लाए हो ? राजा ने पूछा? महाराज मैं संतोष लेकर आया हूं, क्या संतोष! क्या यह बाकी लोगों के द्वारा लाई गई वस्तुओं से भी ज्यादा मूल्यवान है। राजा ने फिर से प्रश्न किया ? जी हां महाराज इस बगीचे में अनेकों अमूल्य वस्तुए हैं ।

Read Short Hindi Moral Story For Kids, 

पर वे सभी इंसान को क्षण भर के लिए सुख की अनुभूति प्रदान कर सकती हैं । इन वस्तुओं को प्राप्त कर लेने के बाद मनुष्य कुछ और ज्यादा पाने की इच्छा मन में उत्पन्न कर लेता है । मतलब कि इन सब को हासिल करने के बाद भी इंसान को खुशी तो होगी लेकिन कुछ समय के लिए होगी।

लेकिन जिसके पास संतोष का धन है जो संतुष्ट हो चुका है। उसे यह हीरे जवाहरात फीके के नजर आते हैं। और वही इंसान अपनी असल जिंदगी में सच्चे सुख की अनुभूति कर सकता है  मतलब एक्सपीरियंस कर सकता है। नौजवान की बातें सुनकर राजा बहुत खुश हुए उन्होंने उसे राजपुरूस के पद के लिए भी सम्मानित किया।

Very nice moral story for kids in hindi

दोस्तों तो कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमारे पास जितना है उतना ही खुश रहना चाहिए..

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां